DTP Kya Hai: DTP क्या है? पूरी जानकारी और लाभ

DTP Kya Hai DTP क्या है पूरी जानकारी और लाभ

डिजिटल क्रांति ने कई क्षेत्र में बहुत सारे बदलाव की नींव रखने का काम किया।‌ DTP (DTP Kya Hai) भी उसी क्रांति का एक रूप है जो डिजाईन के क्षेत्र में परिवर्तन का प्रमुख कारण बना। आज ले-आउट हो या पेज डिजाइन किसी भी काम को बिना DTP के कर पाना काफी मुश्किल है। DTP की वजह से हार्डकॉपी की बचत हुई है। DTP की वजह से क्वालिटी और प्रोफेशनल डॉक्युमेंट तैयार करने में मदद मिली है। यह आज छोटा बिजनेस हो या कोई ओर्गेनाइजेशन सभी के लिए आशीर्वाद बना है।

DTP क्या है? (DTP Kya Hai)

DTP का पूरा नाम डेस्कटॉप पब्लिशिंग है। जिसमें डेस्कटॉप कंप्यूटर पर खास सॉफ्टवेयर के माध्यम से पेज और उनके लेआउट को डिजाइन किया जाता है। डेस्कटॉप पब्लिशिंग के लिए खास सॉफ्टवेयर को डिजाइन किया गया था ताकि हाथ से की जानेवाली प्रोसेस को सरल बनाया जा सके।

DTP की मदद से कंप्यूटर का उपयोग करके किसी भी पेज और उसके लेआउट को डिजाइन किया जा सकता है। इस टेक्नोलॉजी की सबसे खास बात यह है कि इसे पब्लिश करने से पहले आप उसका प्रिव्यू भी देख सकते हैं। इसकी वजह से प्रिंटिंग से पहले पेज और उसके लेआउट कोई भी गलती हो तो उसे सुधारने में काफी मदद मिलती है।

पेज और लेआउट के अलावा DTPका उपयोग वर्ड प्रोसेसिंग और टेक्स्ट को आकर्षित बनाने के लिए भी किया जाता है। इसके अलावा टेबल, चार्ट, ईमेज, ग्राफ और अन्य एलिमेंट तैयार करने के लिए भी किया जाता है।

DTP का इतिहास (History of DTP Course)

डेस्कटॉप पब्लिशिंग सबसे पहले 1970 के दशक में ज़ेरॉक्स PARC में विकसित किया गया था। इसके अलावा यह भी कहां जाता है कि डेस्कटॉप पब्लिशिंग की शुरुआत 1983 में फिलाडेल्फिया में हुई थी। हकीकत में इसकी शुरुआत मैकपब्लिशर के साथ 1985 में WYSIWYG लेआउट प्रोग्राम से हुई थी, जो हकीकत में 128K मैंकिंटोश कंप्यूटर पर हीं चलता था। इसके बाद ऐपल लेसरराइटर प्रिंटर के साथ मार्केट में DTP का चलन तेजी से बढ़ने लगा। इसके बाद एल्डस का सॉफ्टवेयर – पेजमेकर की शुरुआत के बाद डिटीपी इंडस्ट्री का विस्तार बढ़ने लगा।

साल 1991 में माइक्रोसॉफ्ट ने Publisher लॉन्च किया जिसके बाद 1992 में विन्डोज कंप्यूटर के लिए QuarkXPress की शुरुआत हुई।‌ फिर धीरे धीरे फोटोशॉप की भी शुरुआत हुई। आज भी कई लोग फोटोशॉप का इस्तेमाल करते हैं।

DTP कोर्स की विशेषताएं (Features of DTP Course)

  • DTP कोर्स में टेक्स्ट बॉक्स, टेक्स्ट फोर्मेटिंग, ड्रॉइंग और ग्राफिक्स टूल जैसे कई फीचर्स शामिल हैं।
  • डेस्कटॉप पब्लिशिंग के जरिए आप किसी भी विज्ञापन, पैम्फलेट, डिजिटल इंविटेशन को डिजाइन कर सकते हैं।
  • कई DTP पैकेज में प्रोफेशनल टेम्पलेट की वाइड रेंज भी मिल जाती है।
  • टेक्स्ट और ईमेज को आसानी से मुव करने के लिए फ्रेम्स भी आपको इसी में मिल जाएंगे।
  • इसमें डॉक्युमेंट डिजिटल फॉर्मेट में भी तैयार किया जा सकता है, जिसे आप मोबाइल फोन के जरिए या फिर ई-मेल के जरिए भी एक-दूसरे को भेज सकते हैं।
  • पेज के लेआउट, कलर, फोंट इत्यादि को DTP की मदद से चेंज किया जा सकता है।

DTP सॉफ्टवेयर के प्रकार (Types of DTP Software)

डेस्कटॉप पब्लिशिंग के प्रमुख रूप से दो प्रकार होते हैं 1. वर्चुअल पेज और 2. इलेक्ट्रॉनिक पेज

1. वर्चुअल पेज : DTP के इस पेज को What You See Is What You Get (WYSIWYG) के नाम से भी जाना जाता है। इसमें हम प्रिंट किये जाने वाले पेज को देख सकते हैं और उसे प्रिंट होने से पहले उसमें जरूरी एडिट कर सकते हैं।

2. इलेक्ट्रॉनिक पेज : PDF बुक, मेनुअल, वेबसाइट, प्रेजेंटेशन इत्यादि इलेक्ट्रॉनिक पेज के उदाहरण है। यह ऐसी चीजें हैं जिसे प्रिंट नहीं किया जा सकता सिर्फ डिजिटल रूप में शेयर किया जा सकता है।

DTP Course क्यों करना चाहिये?

आज हर क्षेत्र में कंप्यूटर का उपयोग आम हो गया है, अगर आप ग्राफिक डिजाइनिंग या फिर वेबसाइट डिजाइनिंग में रूचि रखते हैं तो आपको DTP कोर्स अवश्य करना चाहिए।

इस कोर्स को करने के बाद आपकी सैलरी में हाइक मिल सकता है। इतना ही नहीं आप फ्रीलांसिंग के जरिए घर बैठे भी पैसे कमा सकते हैं। इतना ही नहीं अपना इंस्टीट्यूट खोलकर भी पैसे कमा सकते हैं।

DTP Course किसे करना चाहिए?

क्रिएटिव सोच रखने वालो को अवश्य डेस्कटॉप पब्लिशिंग का कोर्स करना चाहिए। इसके अलावा अच्छी नौकरी की ख्वाहिश रखने वाले सभी को यह कोर्स करना चाहिए। अगर आप नौकरी में प्रमोशन चाहते हैं तो इस कोर्स को करना फायदेमंद साबित होगा। इस को सीखने के बाद आप सिर्फ नौकरी हीं नहीं बल्कि घर बैठे भी पैसे कमा सकते हैं।

DTP Course की योग्यता (Eligibility of DTP Course)

10वीं या 12वीं पास कोई भी यह कोर्स कर सकता है। इसके लिए किसी खास डिग्री की आवश्यकता नहीं है लेकिन आपको अगर बेसिक कंप्यूटर आता हो तो यह सीखना आसान हो जाएगा।

DTP Course का सिलेबस (Syllabus of DTP Course)

DTP Course में निम्नलिखित सिलेबस देखने को मिलता है।

  • डेस्कटॉप पब्लिशिंग का परिचय
  • डिजाइन की बेसिक जानकारी
  • टाइपोग्राफी
  • कलर थैरेपी
  • इमेज एडिटिंग
  • डेस्कटॉप पब्लिशिंग सॉफ्टवेयर
  • पेज लेआउट
  • टेक्स्ट
  • इमेज एडिटिंग
  • प्रिंटिंग और एक्सपोर्ट
  • MS पेंट
  • फोटोशॉप
  • पेजमेकर
  • कोरल ड्रॉ

DTP Course के बाद नौकरी (Jobs after DTP Course)

DTP कोर्स करने के बाद आप कई तरह के फील्ड में अपना करियर बना सकते हैं।

  • ग्राफिक डिजाइनर
  • मार्केटिंग कोर्डिनेटर
  • डेस्कटॉप पब्लिशर
  • वेब डिज़ाइनर

DTP Course कैसे सीखें (How to Learn DTP Course)

डेस्कटॉप पब्लिशिंग कोर्स आप किसी भी सरकार मान्य संस्थान से कर सकते हैं। इसके अलावा आप ऑनलाइन भी इस कोर्स को कर सकते हैं और कोर्स पूरा होने के बाद आपको सर्टिफिकेट भी दिया जाता है। इतना ही नहीं मार्केट में इस पर की किताबें भी मौजूद हैं जिसके जरिए भी आप यह कोर्स कर सकते हैं। इतना ही नहीं यूट्यूब पर भी आपको इसके फ्री ट्यूटोरियल भी मिल जाएंगे। अगर आप भी ग्राफ़िक डिजाईन सिख  के कंप्यूटर फील्ड में अपना कैरियर बनाना चाहते तोह आज ही पटना का सबसे सर्वोतम Photoshop Training इंस्टिट्यूट BCIT WORLD में आज ही अपना डेमो फिक्स करे ।

निष्कर्ष

डेस्कटॉप पब्लिशिंग (DTP Kya Hai) के जरिए आप किसी भी डॉक्युमेंट, पेज, लेआउट को डिजाइन कर सकते हैं। इतना ही नहीं डिजाइन का प्रिव्यू देख आप उसमें जरूरी एडिट भी कर सकते हैं। आज डिजिटल के जमाने में डिजिटल इंविटेशन भी काफी प्रचलित है, उसे भी आप डेस्कटॉप पब्लिशिंग के जरिए बना सकते हैं।

और पढ़े : घर बैठे के पैसे कैसे कमाए?

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

Q1. डीटीपी क्या है और इसका उपयोग क्या है?

डीटीपी का पूरा नाम डेस्कटॉप पब्लिशिंग है। किसी भी ईमेज, डॉक्युमेंट, पेज, विज्ञापन की डिजाइन तैयार करने के लिए DTP का उपयोग किया जाता है।

Q2. डीटीपी में क्या करना चाहिए?

DTP में आप ईमेज, डॉक्युमेंट, प्रेजेंटेशन तैयार करने के साथ साथ उसे एडिट भी कर सकते हैं।

Q3. डीटीपी कोर्स कितने समय का होता है?

डीटीपी कोर्स का समय सभी संस्थानों में अलग अलग होता है। आमतौर पर इसे 6 महीने से लेकर 1 महीने में किया जा सकता है।

Q4 डीटीपी कोर्स में क्या क्या सिखाया जाता है?

डेस्कटॉप पब्लिशिंग का परिचय, डिजाइन की बेसिक जानकारी, टाइपोग्राफी, कलर थैरेपी, इमेज एडिटिंग, डेस्कटॉप पब्लिशिंग सॉफ्टवेयर, पेज लेआउट, टेक्स्ट, इमेज एडिटिंग, प्रिंटिंग और एक्सपोर्ट, MS पेंट, फोटोशॉप, पेजमेकर, कोरल ड्रॉ

Q4. DTP कोर्स की फीस कितनी है?

DTP कोर्स की फीस सभी संस्थानों में अलग अलग होती है। आम तौर पर इस कोर्स की फीस 15 हजार से लेकर 25 हजार तक होती है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *