MS Office in Hindi : MS Office क्या है? पूरी जानकारी और फायदे

MS-Office-in-Hindi-MS-Office-क्या-है-पूरी-जानकारी-और-फायदे

आज सभी क्षेत्रों में कंप्यूटर अनिवार्य हो गया है। ऐसे में अगर आपको कंप्यूटर का नॉलेज होना जरूरी है। अगर आपको कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज नहीं है तो MS Office (MS Office in Hindi) आपके लिए एक अच्छा विकल्प है‌। अगर कोई भी व्यक्ति जॉब करना चाहता है तो उन्हें MS Office के बारे में पता होना जरूरी है। आज माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस का उपयोग ऑफिस, बिजनेस, एजुकेशन में किया जाता है।

MS Office क्या है? (What is MS Office in Hindi)

Ms Office in Hindi with BCIT WORLD Patna

MS Office का पूरा नाम माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस है। यह माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन द्वारा डेवलप किया गया सॉफ्टवेयर है। यह एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जिसकी मदद से ऑफिस के सभी कामों को आसानी से किया जाता है। इसमें वर्ड, एक्सेल, पॉवरपॉइंट, आउटलुक और अन्य जैसे एप्लिकेशन शामिल हैं, जो आमतौर पर डॉक्यूमेंट एडिटिंग, डेटा एनालिसिस, प्रेजेंटेशन और ईमेल मैनेजमेंट जैसे विभिन्न कार्यों के लिए उपयोग किए जाते हैं।

शुरूआत में MS Office में पॉवरपॉइंट, एक्सेल और वर्ड सिर्फ ये 3 हीं फीचर्स थे लेकिन बाद में इसमें और फीचर ऐंड किए गए। MS Office में कई प्रकार के टूल्स मौजूद होते हैं जिसकी मदद से आप letter, ई-मेल, डेटाबेस सभी प्रकार के कार्य कर सकते हैं। इतना ही नहीं बिलिंग, रिज्यूम, एप्लीकेशन, सर्टिफिकेट भी बना सकते हैं।

MS Office की विशेषताएं (Features of MS Office in Hindi)

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस की प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित हैं –

  • MS Office की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह काफी यूजर फ्रेंडली है।
  • इसे आप अब सिर्फ कंप्यूटर से हीं नहीं बल्कि मॉबाइल से भी ऑपरेट कर सकते हैं।
  • इसमें दी गई अलग अलग एप्लिकेशन और पैकेज के जरिए आप अलग अलग तरह के कार्यों को कर सकते हैं।
  • इसके सभी Program एक दूसरे से मिलते जुलते हैं इसलिए इन पर काम करना आसान हो जाता है।
  • इसके सरल इंटरफेस की वजह से इसके टूल्स का उपयोग करना आसान हो जाता है।
  • MS ऑफिस को समय-समय पर अपडेट किया जाता है।
  • इसकी मदद से ऑफिस के सभी डिजिटल कार्योको आसानी से मैनेज किया जा सकता है।
  • यह बिल्कुल फ्री है और आप इसे ऑफलाइन भी ऑपरेट कर सकते हैं।

MS Office का इतिहास ( History Of MS Office in Hindi)

MS Office को MAC Operating System के लिए साल 1989 में तैयार किया गया था और इसे C++ प्रोग्रामिंग भाषा की मदद से बनाया गया था। जिसके बाद माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन के संस्थापक बिल गेट्स ने 1 अगस्त 1990 को लॉस वेगास में आयोजित कंप्यूटर एक्सपो ट्रैड शॉ में लॉन्च किया गया था। इसके बाद इसका पहला वर्जन 1990 में लॉन्च किया गया था। पहले वर्जन में माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल और माइक्रोसॉफ्ट पावरप्वाइंट जैसे फीचर्स शामिल थे। अब तक MS Office के की वर्जन आ चुके हैं जैसे कि ऑफिस 3.0 (1992), ऑफिस 95 (1995), ऑफिस XP, ऑफिस 2003 (2003), ऑफिस 2007 (2007), ऑफिस 2010 (2010), ऑफिस 2013 (2013), ऑफिस 2016 (2016) और ऑफिस 2019 (2019)।

MS Office के प्रकार (Types of MS Office in Hindi)

MS Office को निम्नलिखित प्रकार में बांटा गया है।

• MS Word : इसे 1983 में लॉन्च किया गया था। यह सॉफ्टवेयर सबसे ज्यादा उपयोग में लिया जाता है। इसकी मदद से लेटर, डॉक्युमेंट, एप्लिकेशन, रिज्यूमे आसानी से बना सकते हैं और एडिट भी कर सकते हैं।

• MS Excel : इसका पूरा नाम MS Excel हैं। यह एक विंडोज पर आधारित स्प्रेडशीट प्रोग्राम है जो डाटा को टेबुलर फॉर्मेट में create करता है। इस सॉफ्टवेयर को सबसे ज्यादा अकाउंटेंट और ऑफिस में इस्तेमाल किया जाता है।

• MS Power Point : प्रेजेंटेशन बनाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसमें मल्टीमीडिया जैसे कि फोटोज, साउंड, एनिमेशन, ग्राफिक्स का सपोर्ट दिया जाता है। किसी भी डाटा और सूचना को विजुलाइजेशन के लिए पावर प्वाइंट का उपयोग किया जाता है।

• MS Access : यह एक डाटाबेस मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर है जिसे 1992 में लॉन्च किया गया था। अलग अलग रिपोर्ट, फॉर्म और टेबल तैयार करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।

• MS Outlook : इसे 1997 में लॉन्च किया गया था। इसे ई-मेल क्लायंट के नाम से भी जाना जाता है। इसका उपयोग ई-मेल भेजने के लिए, मैनेज करने के लिए और रिसीव करने के लिए किया जाता है।

• MS Publisher : ग्राफिक्स डिजाइन और ऑनलाइन कंटेंट पब्लिश करने वालो के लिए यह एक अच्छा विकल्प है। इसमें मौजूद टेम्पलेट नामक सॉफ्टवेयर की मदद से कैलेंडर, बैनर बिजनेस कार्ड, सर्टिफिकेट या डिजिटल एड्स तैयार कर सकते हैं।

• MS Share Point : इसे 2001 में लॉन्च किया गया था। इसमें डाटा को स्टोर किया जा सकता है। इसमें वेबसाइट collaboration सिस्टम होता है जिसकी मदद से टीम मेंबर के साथ फाइल और डाटा को आसानी से शेयर कर सकते हैं।

• MS OneNote : यह डिजिटल नोटबुक एप्लिकेशन है। यह स्टूडेंट के लिए काफी ज्यादा उपयोगी है। यह OneDrive से लिंक होता है इसकी वजह से नोट को सिर्फ कंप्यूटर से हीं नहीं मोबाइल से भी एक्सेस किया जा सकता है।

MS Office Course कोर्स किसे करना चाहिए?

आज के कंप्यूटर के जमाने में सब कुछ कंप्यूटराइज्ड हो चुका है ऐसे में उसके बारे में जानकारी रखना बहुत जरूरी है अगर आपको कंप्यूटर का बेसिक नॉलेज भी नहीं है तो आपको MS Office का कोर्स अवश्य करना चाहिए।

अगर आप जॉब ढूंढ रहे हो तो अच्छी जॉब के लिए आपको MS Office का कोर्स करना चाहिए।

स्टूडेंट से लेकर शिक्षक, रिसर्चर, इंजीनियर अकाउंटेंट सभी को यह कोर्स करना चाहिए।

हर क्षेत्र में कंप्यूटर अनिवार्य हो गया है ऐसे में कंप्यूटर की जानकारी न हो उन सभी को MS Office का कोर्स करना चाहिए।

MS Office कैसे सीखें (How to Learn MS Office in Hindi)

MS Office सीखने के लिए आप किसी भी अच्छे संस्थान से कर सकते हैं, लेकिन वह संस्थान सरकार मान्य हो यह सुनिश्चित करना जरूरी है।

इसके अलावा आप किताब के जरिए या ऑनलाइन भी कोर्स कर सकते हैं।

ऑनलाइन भी आपको कई फ्री में कोर्स भी मिल जाएंगे, इसके साथ आपको सर्टिफिकेट भी दिया जाता है, जिसकी मदद से आप आगे जाकर अच्छी जॉब भी ढूंढ सकते हैं।

YouTube पर भी MS Office के अच्छे ट्यूटोरियल मौजूद हैं जिसके जरिए आप फ्री में MS Office सीख सकते हैं।

इसके अलावा आप DCA, ADCA जैसे कोई शोर्ट टर्म कोर्स भी कर सकते हैं। यह ऐसे कोर्स है जिसमें MS Office का पैकेज भी शामिल हैं।

और पढ़े : Excel क्या है? फायदे और नौकरिया

निष्कर्ष

कंप्यूटर के जमाने में अब MS Office (MS Office in Hindi) का उपयोग रोज़मर्रा किया जाता है। आज सभी ऑफिस में सबसे ज्यादा MS Office का उपयोग किया जाता है। MS Office में की प्रोग्राम शामिल हैं जिसकी मदद से आप डाटा एंट्री से लेकर प्रेजेंटेशन भी बना सकते हैं। रिपोर्ट बनाना हो या फॉर्म सब कुछ आप MS Office की मदद से कर सकते हैं। यह एक यूजर फ्रेंडली होने की वजह से कोई भी इसे आसानी से सीख सकता है। अगर आप भी MS Office Course सिखने के बाद कंप्यूटर फील्ड फील्ड में अपना कैरियर बनाना चाहते तोह आज ही पटना का सबसे सर्वोतम DCA Training इंस्टिट्यूट BCIT WORLD में आज ही अपना डेमो फिक्स करे ।

और पढ़े : ADCA कोर्स क्या है?

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

Q1. MS Office का क्या काम है?

MS Office की मदद से आप डाटा एंट्री, letter, ई-मेल, डेटाबेस बिलिंग, रिज्यूम, एप्लीकेशन, सर्टिफिकेट, प्रेजेंटेशन , रिपोर्ट, फॉर्म इत्यादि आसानी से तैयार कर सकते हैं।

Q2. MS Office Course करने के फायदे क्या है?

MS Office Course सीखने के बाद अच्छी नौकरी के चांस बढ़ जाते हैं। आप ई-मेल मैनेजमेंट, डाटा एंट्री, अलग अलग तरीके के रिपोर्ट, फॉर्म, प्रेजेंटेशन बहुत ही कम समय में बना सकते हैं।

Q3. MS Office सीखने में कितना टाइम लगता है?

MS Office कोर्स का समय सभी इंस्टीट्यूट में अलग अलग होता है। आम तौर पर आप यह कोर्स 3 महीने से लेकर 1 साल में सीख सकते हैं।

Q4. MS Office में कितने सॉफ्टवेयर आते हैं?

MS Office में कई अलग अलग प्रकार के सॉफ्टवेयर आते हैं जैसे कि MS Word, MS Excel, MS Power Point, MS Access, MS Outlook, MS Share Point, MS Publisher, MS One Note।

Q5. MS Office के कितने वर्जन है?

MS Office के कई वर्जन है जैसे कि ऑफिस 3.0, ऑफिस 95, ऑफिस XP, ऑफिस 2003, ऑफिस 2007, ऑफिस 2010, ऑफिस 2013, ऑफिस 2016 और ऑफिस 2019।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *